बड़ी- बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी के ऑफिस के बाहर आपने सिगरेट और पान बीडी की छोटी-छोटी दुकाने जरुर देखी होगी। इन दुकानों के बाहर आपने हमेशा ही लोगों को सिगरेट के कश लगाते हुए भी जरुर देखा है। इन लोगों में लड़के और लड़कियां दोनों होते होंगे। कई बार जानकर अचरज होता है कि बड़े-बड़े ऑफिसों में काम करने वाले बेहद शिक्षित लोग धुम्रपान से होने वाले खतरों के बारे में जानकर भी अंजान कैसे। आखिर कैसे संभव है कि इन लोगों को सिगरेट से होने वाले नुकसान की जानकारी नहीं होगी। आपको बता दें कि आपके इन्ही सवालों को लेकर एक सर्वे रिपोर्ट तैयार की गई है जिसमें कई गंभीर जानकारियां सामने आयी है।


Image Source

हाल ही में एक सर्वे के दौरान स्मोकिंग को लेकर ऐसी कई जानकारियां सामने आयी है जिसे सुनकर आप चौंक जायेंगे। आपको बता दें कि एक सर्वे के अनुसार ज्यादातर लोग सिगरेट पीकर खुद को कूल फील करवाना चाहते हैं। इस रिपोर्ट के अऩुसार देश के पचास फीसदी से भी अधिक लड़के – लड़कियां सिर्फ तनाव कम करने के लिए सिगरेट के कश लगाते हैं। ऐसे लोगों का मानना है कि सिगरेट पीने से तनाव कम होता है साथ ही दूसरे लोगों के सामने उनकी कूल इमेज बनती है।

  • इस रिपोर्ट के अनुसार देश के 52 फीसदी से अधिक लड़के- लड़कियों का मानना है कि स्मोकिंग से एकाग्रात बढ़ती है। जबकि 90 फीसदी यंगस्टर अपनी स्मोकिंग हैबिट के लिए अपने माता-पिता को दोष देते हैं, उनका मानना है कि उनके अभिभावक उन्हे नहीं रोकते इसलिए वो स्मोकिंग करते हैं।

Image Source

आपको बता दें कि हाल ही में प्रकाशित हुई इस रिपोर्ट में बताया गया है ये सर्वे देश के 6 राज्यों में 1900 स्कूली स्टूडेंट और ऑफिस जाने वाले लोगों पर किया गया था। इस रिपोर्ट में 75 फीसदी लोगों ने
माना है कि वो सिर्फ टशन दिखाने के लिए ही सिगरेट पीते हैं।


Image Source

Comments

comments