देश में इस वक्त जहां तीन तलाक और मुस्लिम अधिकारों का मामला जोर पकड़ रहा है तो वहीं हमारे समाज के दकियानुसी विचारों से अलग दिल्ली की रोशनी मिस्बाह मुस्लिम तबके के लोगों को रोशनी दिखाने का काम कर रही है। अगर आपको दिल्ली की सड़कों पर बुर्का पहने हुए फर्राटा से बाइक दौड़ाते हुई कोई लड़की नजर आये तो आप समझ जाना कि ये रोशनी मिस्बाह है। 20 साल की रोशनी मिस्बाह की पहचान दिल्ली में एक तेज बाइक राइडर के तौर पर होती है, हालांकि रोशनी जिस धर्म से आती है उसमें महिलाओं के लिए इस तरह की चीजों पर पांबदी है।


Image Source

  • कौन है रोशनी मिस्बाह


Image Source

दिल्ली की सड़कों पर अपनी बाइक से vroom-vroom करने वालों के रोशनी कोई नया नाम नहीं है। दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया कॉलेज से अरब इस्लामिक कल्चर की पढ़ाई करने वाली रोशनी को नवीं क्लॉस से ही बाइक चलाने का शौक था। रोशनी की माने तो बाइक चलाना उनका पैशन है। रोशनी बाइक चलाते वक्त हमेशा हेलमेट का इस्तेमाल करती है। तो साथ ही अपने धर्म के अनुसार हिजाब भी पहनती है। बाइक चलाते वक्त रोशनी अधिकतर जिंस और शर्ट या फिर टीशर्ट पहनती है। रोशनी की माने तो इस तरह के कपड़े उऩ्हे कंफर्टेबल फील कराते हैं।

  • रोशनी को पंसद है तेज स्पीड की बाइक


Image Source

रोशनी के अनुसार जिस वक्त वो 9वीं क्लॉस में थी तो उन्होने पहली बार बाइक चलाई थी। रोशनी की सहेलियां बताती है कि जिस उम्र में वो स्कूटी सीख रही थी उस उम्र में रोशनी तेज स्पीड की बाइक की ट्रेनिंग लेने में लगी थी। रोशनी की माने तो बजाज AVENGER CRUISER 220 उनकी पहली बाइक थी। अपनी पहली बाइक रोशनी ने अपनी पार्ट टाइम जॉब की सेविंग्स से खरीदी। अपनी पहली बाइक के बाद रोशनी को रफ्तार का ऐसा चस्का चढ़ा की वो 250 से कम स्पीड की किसी भी बाइक को नहीं चलाती। अपनी AVENGER CRUISER को बॉय-बॉय बोलने के बाद रोशनी ने ROYAL ENFIELD खरीद ली। आजकल रोशनी HONDA CRB से अपनी कॉलेज जा रही है।

  • धर्म के नाम लोगों ने अटकाये रोड़े


Image Source

रोशनी मिस्बाह दक्षिणी दिल्ली के जिस इलाके में रहती है वहां मुस्लिम समाज के लोग बड़ी संख्या में रहते हैं। ऐसे में रोशनी के ड्रेसिंग स्टाइल और उसके बाइक चलाने के शौक को लेकर उसके गली-मौहल्ले के लोग उसे अक्सर ही टोकते रहते थे। खुद रोशनी की माने तो ये लोग धर्म के नाम पर उसकी आजादी पर हमला करते थे। यह लोग नहीं चाहते थे कि रोशनी मिस्बाह इस्लाम के उसूलो से अलग चले। हालांकि रोशनी शुरु से कहती आयी है कि वो अपने धर्म का पूरा सम्मान करती है इसीलिए हमेशा हिजाब भी साथ लेकर चलती है। आपको बता दें कि रोशनी एक रुढिवादी फैमिली से आती है। इनके पिता एक कट्टर व्यक्ति है। रोशनी कहती है कि शुरु में इनके पिता इनके इस शौक के खिलाफ थे लेकिन बेटी की खुशी को देखते हुए वो पिघल गये और आज वो पूरी तरह से उनके साथ है।

Comments

comments