सोशल मीडिया फेसबुक पर चले रहे फेक न्यूज़ को रोकने के लिए कंपनी ने हरसंभव कोशिश में लगी हुई है. फेक न्यूज़ से आने वाले समय में अब किसी को नुकसान ना हो इसके लिए अब कंपनी ने बूम में साथ करार किया है. बता दें कि बूम फर्जी ख़बरों की पड़ताल करती है.

facebook with boom

गौरतलब है कि फर्जी खबरों को लेकर चुनाव पर काफी असर दिखाई दिया था. चाहे वह इंडिया में हो या अमेरिका में. वहीं कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में फेसबुक ने बूम के साथ करार कर फर्जी ख़बरों से बचने के लिए हथकंडे अपना लिए हैं. बूम फेसबुक पर आने वाले अग्रेजी भाषा के समाचार की समीक्षा करेगी और उसके तथ्यों की जांच और प्रमाणिकता का मूल्यांकन करेगी.

फेसबुक ने इस तरह की पहल फ्रांस , इटली, नीदरलैंड , जर्मनी , मेक्सिको , इंडोनेशिया और अमेरिका में भी शुरू की है. बूम सोशल मीडिया या अन्य जगह चल रही खबरों के तथ्यों की जांच परख करके पता लगाती है कि वह फर्जी खबर है या नहीं.

Comments

comments